तो दोस्तों अपने एक शब्द जरूर सुन होगा call forwarding या call divert, तो क्या आप जानते है की यह होता क्या है।
आपको इसके बारे मे जरूर पता होना चहिए, तो आज के इस पोस्ट मे मैं आपको call forwarding के बारे मे सब कुछ बताऊँगा।

call forwarding

यह भी पढे :- Recycle Bin meaning in Hindi

उसके इस्तेमाल, फायदे सब कुछ आप इस पोस्ट मे जानेंगे।
Call forwarding एक बहुत ही जरूरी फीचर है। जिसकए बारे मे सबको पता होना चहिए।
आपको यह पर टेक्नॉलजी से जुड़ी सारी जानकारियाँ मिलेंगी।
तो आप अंत तक देखे ताकि आपको भी इस फीचर के बारे मे पता चले, ताकि अपका काम आसान रहे।
तो दोस्तों आप ये पोस्ट अंत तक पढे ताकि आपको भी इस फीचर के बारे मे पता चले।

Call forwarding क्या होती है।

तो दोस्तों आपकी जानकारी के लिए बता दूँ की call forwarding और call divert एक ही चीज़ है।
यह एक बहुत ही फीचर है और ये फीचर आपको लग भाग सभी फोनस मे मिल जाएगा।

यह भी पढे :- Ms Word kya hota hai 

तो अब बात करते है की call forwarding आखिर होती किया है।
तो call divert/call forwarding का मतलब है की आपके किसी एक मोबाईल नंबर पे कॉल आता है और आप उसे अपने किसी दूसरे नंबर पे या फोन पे divert मतलब आगे भेजते हो तो उसे call forwarding कहते है।
अगर आपको अभी भी समझ नहीं आया तो आप, इन फोटो की मदद से समझ सकते हो।
तो चलिए आपको एक उदाहरण के साथ समझते है।

call forwarding

तो जैसा की आपने ऊपर फोटो मे देखा की एक कॉल करना वाला था, जब कोई आपके किसी नंबर पे कॉल करता है और वो bussy या not reachable दिखाता है तो।
ऐसे मे आपकी कल आपके नंबर पे forward को जाती है, जैसा की अपने ऊपर फोटो मे देखा।
तो ये होती है call forwarding, अब मैं आशा करता हूँ की आपको समझ मे आ गया होगा।
यह भी पढे :- Paytm kya hai 


Call forwarding के फायदे।

Call forwarding के कई सारे फायदे हैं, उन्मे से पहला है।
1. अगर आपके पास 2 फोन है और आप खाली एक ही फोन ले जा सकते हो, तो ऐसे मे दोस्तों आपको अपने दूसरे फोन जिसको आप नहीं ले जा सकते उसमे call forwarding लगा दी जिए। ऐसे मे दोस्तों आपके पास जो भी calls आएंगी तो वह forward हो जाएगी।

2. ऐसा करने से कभी अपका फोन not reachable जाता है तो ऐसे मे आपका फोन बड़ी आसानी से forward हो जाएगा और आप बड़ी आसानी से उस कल को उठा पाएंगे।

तो दोस्तों अपको एक बात ध्यान मे रखनी है की call forwarding फ्री नहीं है। उसमे भी पैसे लगते है, जितनी देर आप बात करोगे उसके हिसाब से आपकी outgoing लगेगी।
ऐसे मे आप लोगों को ध्यान रखना है की अपने फोन मे balance हो ताकि आपकी call forward हो सके।
यह भी पढे :- Computer ki definition in Hindi


Call forwarding कैसे इस्तेमाल करे

तो दोस्तों अलग अलग फोन मे अलग तरीके से call forwarding लगती है।
तो आप इन स्टेप्स को फॉलो करे।

1. आपको आपके फोन के call logs मतलब, वह जगह जहाँ से आप नंबर डायल करते हो।

2. अब आपको call settings मे जाना है।

3. आपको चेक करना है की call forwarding कहाँ पर है। ढूंढने के बाद आप उसपे क्लिक करे।

4. अब उसके बाद आपको voice call पे क्लिक करना है।

5. voice call पे क्लिक करने के बाद आपको always forward पे क्लिक करना है और नंबर डाल कर enable पे क्लिक करना है।

बस यह ही कुछ स्टेप्स फॉलो करने है और उसकी मदद से आप अपने call forwarding को चालू कर सकते हो।
अगर आपकी call forwarding अभी तक चालू नहीं हुई है तो आप हमे कमेन्ट करके बता सकते हो।
हम आपकी परेशानी दूर करने का पुरा प्रयास करेंगे।  

यह भी पढे :- Safe Mode kya hai 


Conclusion (निष्कर्ष)

तो मैं आशा करता हूँ की आप लोगों को call forwarding के बारे मे पता चल गया होगा।
और अगर आपको कोई भी परेशानी आती है तो, कमेन्ट करना न भूले आपकी परेशानी हल करने का पुरा प्रयास करेंगे।
तो ऐसे मददगार पोस्ट के लिए हमारे newsletter को सबस्क्राइब करे बिल्कुल फ्री मे।
ताकि जब भी हम कोई भी पोस्ट डाले, तो हम आपको उसके बारे मे सबसे पहले बता सकेंगे।
सारे पोस्ट पढे :- All Posts Links
इसकी के साथ हम आपसे मिलेंगे एक और मजेदार पोस्ट मे।